भूपतवाला बेस हॉस्पिटल में घुसा बारिश का पानी

Image
 150 बेड के बेस हॉस्पिटल में घुसा बारिश का पानी मरीजों का इलाज करने वाले स्टाफ बाल्टी में बारिश का पानी भरते दिखाई दिये। देखे वीडियो......... कोविड संक्रमित मरिज़ो के इलाज के लिए हरिद्वार स्थित भूपतवाला में बनाये गए बेस हॉस्पिटल में भरा बारिश का पानी। योगगुरू बाबा रामदेव का संस्थान और उत्तराखंड सरकार द्वारा संचालित है हरिद्वार में बेस हॉस्पिटल। एक दिन की बारिश ने बेस हॉस्पिटल में व्यवस्थाओं की खोली पोल। आईसीयू वार्ड तक पहुचा बारिश का पानी। मरीजों की देखभाल करने वाले स्टाफ बाल्टियों में पानी भरते दिखे। पानी की निकासी के लिए नही की गई कोई व्यवस्था। कोविड संक्रमित मरीजो के बेड के नीचे तक घुसा बारिश का पानी। हॉस्पिटल कर्मचारियों द्वारा बारिश के पानी को बाहर निकालने की जद्दोजहद जारी।

गन्ना विकास एवं चीनी उद्योग मंत्री स्वामी यतीस्वरानंद ने स्वास्थ्य केंद्रों का निरीक्षण किया। झबरेड़ा के प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र में ताला लगा मिलने पर मंत्री ने नाराजगी जताई

 *प्रेस विज्ञप्ति*


हरिद्वार




गन्ना विकास एवं चीनी उद्योग मंत्री स्वामी यतीस्वरानंद ने स्वास्थ्य केंद्रों का निरीक्षण किया। झबरेड़ा के प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र में ताला लगा मिलने पर मंत्री  ने नाराजगी जताई। उन्होंने मुख्य चिकित्सा अधिकारी को    कल से झबरेड़ा के प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र  में नियमित खुलवाने व व्यवस्था दुरुस्त करने को कहा।

गन्ना मंत्री आज मुख्य चिकित्साधिकारी को लेकर रुड़की के राजकीय संयुक्त चिकित्सालय का निरीक्षण करने गए थे। जहाँ उन्हीने व्यवस्थाओ का जायजा लिया और चिकित्सको व स्वास्थ्य कर्मियों से बातचीत की। उन्होंने मरीजो के तीमारदारों का भी हौंसला बढ़ते हुए कहा कि सरकार उनके साथ है। इसके बाद गन्ना मंत्री ने रुड़की विधायक प्रदीप बत्रा के सहयोग से संचालित हेल्पिंग हैंड कोविड केयर सेंटर का भी निरीक्षण किया। जिस पर उन्होंने कोविड 19 की के दौरान की जा रही सेवाओ के लिए विधायक प्रदीप बत्रा की सराहना की। 

मंत्री स्वामी यतीश्वरानंद ने कहा कि कोविड 19 की रोकथाम में किसी भी प्रकार की कोताही बर्दाश्त नही की जाएगी। उन्होंने मुख्य चिकित्साधिकारी एस के झा को निर्देश देते हुए कहा कि शहरों के साथ साथ छोटे कस्बो व गाँवों में प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों में व्यवस्थाएं दुरुस्त की जाए। सरकार की ओर से धन व उपकरणों की कमी नही होने दी जाएगी। यदि आवश्यकता हो तो जितने मर्जी डॉक्टर, नर्स, स्टाफ या अन्य की तत्काल भर्ती करें। 

श्री स्वामी ने कहा कि गांवों में ही बेहतर व्यवस्था कर देने से  शहरों में भीड़ कम रहेगी। उन्होंने ग्राम स्तर पर कोरोना टेस्टिंग कराने के भी निर्देश दिए। 

मंत्री स्वामी यतीश्वरानंद ने कहा कि मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत कोरोना की रोकथाम व स्वास्थ्य सुविधाओं को दुरुस्त करने के वृहद स्तर पर काम कर रहे है। लगातार ऑक्सीजन, आईसीयू, वेंटिलेटर व बेड की कमियों को पूरा किया जा रहा है।

निरीक्षण के दौरान भाजपा जिलाध्यक्ष जयपाल सिंह चौहान, रुड़की विधायक प्रदीप बत्रा, झबरेड़ा विधायक देशराज कर्णवाल, रुड़की महापौर गौरव गोयल, झबरेड़ा नगर पालिका अध्यक्ष मानवेन्द्र सिंह, शोभाराम प्रजापति आदि उपस्थित रहे।

Comments

Popular posts from this blog

ब्रेकिंग -हरिद्वार में भूकंप के झटके

उत्तरी हरिद्वार से बैरंग लौटी पंजाब पुलिस

मुख्यमंत्री तीरथ ने जीती पहली लड़ाई