Posts

Showing posts from January, 2021

विधायक प्रदीप बत्रा ने किया सड़क का शिलान्यास

Image
 रूड़की  का शिलान्यासरोइरजी विधायक प्रदीप बत्रा ने किया सड़क का शिलान्यास रुड़की लंबे इंतजार के बाद आखिर रूड़की के मालवीय चौक से रेलवे स्टेशन तक की सड़क के दिन बहुर गए हैं। आज विधायक प्रदीप बत्रा ने डेढ़ करोड़ की लागत से बनने वाली इस सड़क का फीता काटकर उद्घाटन किया। आपको बता दें कि पिछले कई वर्षो से यहां के लोग इस सड़क के निर्माण की मांग करते आ रहे थे लेकिन इस सड़क का निर्माण नही हो पाया। यह सड़क मालवीय चौक से रेलवे स्टेशन तक बुरी तरह टूटी हुई थी। वहीं इस सड़क को बनाये जाने की घोषणा मुख्यमंत्री द्वारा भी की गई थी। आज इस सड़क का शिलान्यास विधायक प्रदीप बत्रा ने फीता काटकर किया। उन्होंने बताया की इस सड़क का निर्माण कार्य एक करोड़ 36 लाख की लागत से किया जाएगा। उन्होंने कहा कि क्षेत्रवासियों के द्वारा लंबे समय से सड़क बनाए जाने की मांग की जा रही थी। सड़क पर बरसात का पानी जमा हो जाता था। अब बरसात के पानी से भी क्षेत्रवासियों को निजात मिलेगी। पार्षद पति कुलदीप तोमर ने बताया कि इस सड़क के बनने से लोगों को राहत मिलेगी। वहीं उन्होंने कहा कि जलभराव की समस्या से निजात दिलवाने के लिए नाले के निर्माण कार्य का प्र

भारतीय संस्कृति का जो स्वरूप संतो ने विश्व पटल पर प्रस्तुत किया है वह सराहनीय है-स्वामी ब्रह्मस्वरूप ब्रह्चारी

Image
हरिद्वार ब्यूरो भारतीय संस्कृति का जो स्वरूप संतो ने विश्व पटल पर प्रस्तुत किया है वह सराहनीय है -स्वामी ब्रह्मस्वरूप ब्रह्मचारी जयराम पीठाधीश्वर स्वामी ब्रह्मस्वरूप ब्रह्मचारी महाराज ने कहा है कि संत परंपरा सनातन संस्कृति की वाहक है और भारतीय संस्कृति का जो स्वरूप संतो ने विश्व पटल पर प्रस्तुत किया है वह सराहनीय है। भूपतवाला स्थित श्री श्री आत्म योग निकेतन धाम आश्रम में आयोजित संत समागम के दूसरे दिन श्रद्धालु भक्तों को संबोधित करते हुए स्वामी ब्रह्मस्वरूप ब्रह्मचारी महाराज ने कहा कि त्याग एवं तपस्या की प्रतिमूर्ति ब्रह्मलीन स्वामी आत्मानंद सरस्वती महाराज एक महान संत थे। जिन्होंने संपूर्ण जीवन भारतीय संस्कृति एवं सनातन धर्म का प्रचार प्रसार कर राष्ट्र निर्माण में अपना अतुल्य योगदान प्रदान किया। युवा पीढ़ी को उनके आदर्शो को अपनाकर सनातन धर्म के उत्थान में अपना सहयोग प्रदान करना चाहिए। कार्यक्रम को अध्यक्ष पद से संबोधित करते हुए महंत देवानंद सरस्वती महाराज ने कहा कि संतों का जीवन सदैव परोपकार को समर्पित रहता है। ब्रह्मलीन स्वामी आत्मानंद सरस्वती महाराज ने सदैव ही भावी पीढ़ी को संस्कारवान ब