भूपतवाला बेस हॉस्पिटल में घुसा बारिश का पानी

Image
 150 बेड के बेस हॉस्पिटल में घुसा बारिश का पानी मरीजों का इलाज करने वाले स्टाफ बाल्टी में बारिश का पानी भरते दिखाई दिये। देखे वीडियो......... कोविड संक्रमित मरिज़ो के इलाज के लिए हरिद्वार स्थित भूपतवाला में बनाये गए बेस हॉस्पिटल में भरा बारिश का पानी। योगगुरू बाबा रामदेव का संस्थान और उत्तराखंड सरकार द्वारा संचालित है हरिद्वार में बेस हॉस्पिटल। एक दिन की बारिश ने बेस हॉस्पिटल में व्यवस्थाओं की खोली पोल। आईसीयू वार्ड तक पहुचा बारिश का पानी। मरीजों की देखभाल करने वाले स्टाफ बाल्टियों में पानी भरते दिखे। पानी की निकासी के लिए नही की गई कोई व्यवस्था। कोविड संक्रमित मरीजो के बेड के नीचे तक घुसा बारिश का पानी। हॉस्पिटल कर्मचारियों द्वारा बारिश के पानी को बाहर निकालने की जद्दोजहद जारी।

रक्त दान अवश्य करें - सुनील अरोड़ा

 हरिद्वार

बुधवार को गीतगोविंद बैंकट हॉल में लगने वाले  ब्लड कैंप के संदर्भ में. सामाजिक कार्यकर्ता सुनील अरोरा की अपील

हरिद्वार ब्लड बैंक में मात्र 50 यूनिट रक्त ही उपलब्ध है, 

जो व्यक्ति रक्तदा


न करना चाहते हैं मेरा उन से निवेदन है कृपया आज अपना रजिस्ट्रेशन सुनिश्चित करवा ले  ताकि कल का समय आप को दिया जा सके और आप समय अनुसार वहां पर पहुंचे व् आपको लॉकडाउन में आने जाने में कुछ समस्या उत्पन्न ना हो हम उसकी व्यवस्था भी बना सकें

 हमारे द्वारा जो आपको समय दिया जाएगा मैसेज द्वारा वह मैसेज आप पुलिस प्रशासन को दिखा करके बिना रोक-टोक रक्तदान कर सकते हैं


 आपका यह दान किसी को जीवनदान दे सकता है शहर के उज्जवल भविष्य की कामना करते हुए हम आपसे निवेदन करते हैं

 रक्तदान जरूर करें

9719122322. सुनील अरोरा 

9837241310 ऋषि सचदेवा 

  व्हाट्सएप  करके  अपना रजिस्ट्रेशन जरूर करवा लें रक्तदान महादान अवश्य करें 


 हम इसमें कोविड प्रोटोकॉल का निम्न रूप से पालन करेंगे


1. एक बड़े हाल में एक समय पर मात्र 2 से 3 लोगों को रक्तदान हेतु निश्चित समय देकर बुलाया जाएगा।

2. प्रत्येक रक्तदाता के जाने के पश्चात बेड को पूर्णतः sanitize कर डिस्पोजेबल बेडशीट नई से बदली जाएगी ।

3. रक्तादान स्टाफ को डबलमास्क, फेसशील्ड व ग्लव्स उपलब्ध कराए जाएंगे।

4. रक्तदाताओं को डब्लमस्क व ग्लव्स उपलब्ध कराये जाएंगे।

5. किसी भी बाहरी व्यक्ति का प्रवेश निषेध होगा ।

6. रक्तदाताओं को भी प्रांगण में रुकने नही दिया जाएगा व इंतज़ार की स्थिति में प्रत्येक रक्तदाता परिवार को चौपहिया वाहन में ही रोका जाएगा, उन्हें सड़क पर या रक्तदान शिविर के स्थान पर उतरना निषेध होगा।

Comments

Popular posts from this blog

ब्रेकिंग -हरिद्वार में भूकंप के झटके

उत्तरी हरिद्वार से बैरंग लौटी पंजाब पुलिस

मुख्यमंत्री तीरथ ने जीती पहली लड़ाई