भूपतवाला बेस हॉस्पिटल में घुसा बारिश का पानी

Image
 150 बेड के बेस हॉस्पिटल में घुसा बारिश का पानी मरीजों का इलाज करने वाले स्टाफ बाल्टी में बारिश का पानी भरते दिखाई दिये। देखे वीडियो......... कोविड संक्रमित मरिज़ो के इलाज के लिए हरिद्वार स्थित भूपतवाला में बनाये गए बेस हॉस्पिटल में भरा बारिश का पानी। योगगुरू बाबा रामदेव का संस्थान और उत्तराखंड सरकार द्वारा संचालित है हरिद्वार में बेस हॉस्पिटल। एक दिन की बारिश ने बेस हॉस्पिटल में व्यवस्थाओं की खोली पोल। आईसीयू वार्ड तक पहुचा बारिश का पानी। मरीजों की देखभाल करने वाले स्टाफ बाल्टियों में पानी भरते दिखे। पानी की निकासी के लिए नही की गई कोई व्यवस्था। कोविड संक्रमित मरीजो के बेड के नीचे तक घुसा बारिश का पानी। हॉस्पिटल कर्मचारियों द्वारा बारिश के पानी को बाहर निकालने की जद्दोजहद जारी।

निर्मल पंचायती अखाड़ा के कोठारी महन्त जसविंदर सिंह शास्त्री महाराज ने कैबिनेट मंत्री सुबोध उनियाल को सरोपा और शॉल भेंट कर किया अभिनंदन

निर्मल पंचायती अखाड़ा के कोठारी महन्त जसविंदर सिंह शास्त्री महाराज ने कैबिनेट मंत्री सुबोध उनियाल को सरोपा और शॉल भेंट कर किया अभिनंदन
श्री निर्मल पंचायती अखाड़ा कनखल हरिद्वार की ओर से उत्तराखंड सरकार के राजकीय प्रवक्ता और कैबिनेट मंत्री सुबोध उनियाल को 9 अप्रैल को अखाड़े की पेशवाई के लिए मुख्य अतिथि के रुप में आमंत्रित किया गया है। आज श्री निर्मल पंचायती अखाड़ा के वरिष्ठ महन्त और कोठारी महन्त जसविंदर सिंह शास्त्री महाराज की ओर से उनियाल को निमंत्रण पत्र भेंट किया गया। इस अवसर पर महन्त जसविंदर सिंह शास्त्री महाराज ने कैबिनेट मंत्री सुबोध उनियाल को शॉल और सरोपा भेंट कर उनको सम्मानित किया गया कैबिनेट मंत्री सुबोध उनियाल ने महन्त जसविंदर सिंह शास्त्री महाराज को माल्यार्पण कर उनका आशीर्वाद लिया कैबिनेट मंत्री सुबोध उनियाल ने अखाड़े का निमंत्रण सहर्ष स्वीकार किया और भारतीय संस्कृति के प्रचार प्रसार में निर्मल अखाड़े की भूमिका की पूरी प्रशंसा की और कहा कि निर्मल अखाड़ा भारतीय संस्कृति के प्रचार प्रसार में अहम भूमिका निभा रहा है। उन्होंने कहा कि निर्मल पंचायती अखाड़ा संस्कृत भाषा को बढ़ावा देने के लिए महत्वपूर्ण कार्य कर रहा है इस अवसर पर महंत जसविंदर सिंह शास्त्री महाराज ने कहा कि सिख पंथ के दसवें गुरू श्री गुरु गोविंद सिंह जी ने निर्मल संतो को संस्कृत की शिक्षा और प्रचार प्रसार के लिए पोंटा साहिब हिमाचल प्रदेश से उत्तर प्रदेश के वाराणसी में संस्कृत के अध्ययन और अध्यापन के लिए भेजा था तब से अब तक निर्मल संत संस्कृत के प्रचार प्रसार में लगे हुए हैं इस अवसर पर सेवादार समाजसेवी देवेंदर सिंह सोढ़ी ने कहा कि उत्तराखंड सरकार ने संस्कृत को बढ़ावा देने के लिए अच्छा कार्य किया है श्री निर्मल पंचायती अखाड़ा संस्कृत को बढ़ावा देने के लिए हमेशा कार्य करता रहेगा।

Comments

Popular posts from this blog

ब्रेकिंग -हरिद्वार में भूकंप के झटके

उत्तरी हरिद्वार से बैरंग लौटी पंजाब पुलिस

मुख्यमंत्री तीरथ ने जीती पहली लड़ाई