अखाड़ा परिषद की अहम बैठक में लिया गया निर्णय कुंभ भव्य और सुंदर मनाया जाएगा

हरिद्वार ब्यूरो

अखाड़ा परिषद की अहम बैठक में लिया गया निर्णय कुंभ भव्य और सुंदर मनाया जाएगा




कुंभ मेले को लेकर अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद की आज नया उदासीन अखाड़े में अहम बैठक आयोजित की गई बैठक की अध्यक्षता अखाड़ा परिषद अध्यक्ष नरेंद्र गिरी और महामंत्री हरी गिरी द्वारा की गई बैठक मैं सभी तेरह अखाड़ों के प्रतिनिधियों ने भाग लिया बैठक में सभी अखाड़ों के साधु संतों ने निर्णय लिया 2010 की तर्ज पर ही इस बार का महाकुंभ किया जाएगा अखाड़ा परिषद द्वारा बैठक में कुंभ कार्यों को लेकर नाराजगी जाहिर की गई है और इसको लेकर अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद द्वारा मेला अधिकारी को मुख्यमंत्री के नाम ज्ञापन दिया गया अखाड़ा परिषद द्वारा मुख्यमंत्री और मेला अधिकारी को प्रयागराज माघ मेले का निरीक्षण करने के लिए आमंत्रित किया है और उसी की तर्ज पर हरिद्वार कुंभ मेले को करने की मांग की गई है वही अखाड़ा परिषद ने चेतावनी दी है कि अगर सरकार कोई व्यवस्था नहीं करती है तो अखाड़े अपनी तरफ से ही व्यवस्था करनी शुरू कर देंगे


अखाड़ा परिषद की आज कुंभ मेले के स्वरूप को लेकर अहम बैठक की गई बैठक में सभी तेरह अखाड़ों के प्रतिनिधियों ने सरकार द्वारा कि जा रही व्यवस्था पर अपनी नाराजगी जाहिर की अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष महंत नरेंद्र गिरि का कहना है कि आज अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद की बैठक नया उदासीन अखाड़े में संपन्न हुई है बैठक में अखाड़ा परिषद द्वारा निर्णय लिया गया है हरिद्वार में आने वाला कुंभ 2010 की तर्ज पर ही किया जाएगा सभी अखाड़ों के आचार्य महामंडलेश्वर महामंडलेश्वर सभी रामानंदाचर्य शंकराचार्य और संत महात्मा कुंभ मेले में हरिद्वार आएंगे सरकार का कार्य है व्यवस्था को करना मगर अभी तक कोई भी कार्य शुरू नहीं हुआ है इन कार्य से अखाड़ा परिषद संतुष्ट नहीं है इसको लेकर हमारे द्वारा मेला अधिकारी को मुख्यमंत्री के नाम से ज्ञापन दिया गया है प्रयागराज माघ मेले की तर्ज पर ही हरिद्वार का कुंभ मेला भी कराया जाए इनका कहना है कि हमारे द्वारा एक तारीख को मुख्यमंत्री और मेला अधिकारी को प्रयागराज में माघ मेले के निरीक्षण के लिए आमंत्रण दिया है जिससे कि वह देख सके वहां किस किस तरह से कार्य हो रहा है इनका कहना है उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री परंपराओं का पालन कर रहे हैं उसी की तर्ज पर उत्तराखंड के मुख्यमंत्री भी परंपराओं का पालन करें इस बैठक में हमने निर्णय लिया है कि कुंभ मेला दिव्य और भव्य होगा और सभी व्यवस्थाओं के साथ होगा कुंभ में अखाड़ों को एक जनवरी को जमीन देने के लिए नोटिफिकेशन जारी करने की परंपरा है अगर सरकार द्वारा नहीं किया जाता है तो अखाड़ा परिषद प्रधान मंत्री रक्षा मंत्री गृह मंत्री से मुलाकात करेगा और उन से निवेदन करेंगे हमारी परंपरा को निर्वहन करने का कार्य किया जाए इनका कहना है कि अगर सरकार अखाड़ों में व्यवस्था कराने में सक्षम नहीं है  तो अखाड़े अपनी तरफ से सभी व्यवस्थाएं करने के लिए तैयार है


 

वहीं अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद के महामंत्री महंत हरी गिरी का कहना है कि प्राचीन काल से ही अखाड़े कुंभ मेले में अपनी तरफ से व्यवस्था करते थे सरकार द्वारा अगर कुंभ मेले में अखाड़ों के लिए कोई व्यवस्था नहीं की जाती है तो अखाड़े अपनी तरफ से ही बिजली पानी और टेंट की व्यवस्था करेंगे और यह सारी व्यवस्था करने के बाद हरिद्वार में लगने वाले कांवड़ मेले के लिए यह सब कुछ छोड़कर चले जाएंगे


Comments

Popular posts from this blog

ब्रेकिंग -हरिद्वार में भूकंप के झटके

कार्तिक पूर्णिमा स्नान पर सील हुआ उत्तराखंड का बॉर्डर, देखें

पूर्ति निरीक्षक रिश्वत लेते हुए कैमरे में हुआ कैद वीडियो हुआ वायरल