आयुर्वेद में है हर रोग का इलाज

               आयुर्वेद में है हर रोग का इलाज




  हरिद्वार- शान्ति मार्ग, हरिपुर कलां, देहरादून निवासी,20 वर्षीय  नितिन पँवार को सन 2010 में सरदर्द शुरू हुआ, जो तीन चार माह के अंतराल पर होने लगा,शुरू में तो घरेलू  व आस पास का इलाज करते रहे,  परेशानी बढ़ने पर बंगाली अस्पताल कनखल ,  डॉ अहमद मनो चिकत्सालय, रुड़की;  सी एम आई अस्पताल देहरादून, ; डॉ पी के गुप्ता देहरादून, और एम्स अस्पताल ऋषिकेश में एलोपैथिक चिकित्सा की गई।किन्तु ज्यूँ ज्यूँ इलाज हुआ मर्ज बढ़ता ही गया। उसका anxity neurosis,(चिन्ता) seizure(दौरों),माइग्रेन, मनोरोग ,  migrain without aura आदि  का उपचार चलता रहा।

2017 में कराए  ब्रेन के MRI रिपोर्ट में Mild left  middle temporal atrophy (शोष), ENT विभाग द्वारा कराए गए USG में Necrotic cervical LN बताया गया।

नवम्बर-19 को कराए MRI में ill defined abscess (मवाद होना) व सर्वाइकल लिम्फ ग्लैंड में इंफेक्शन होना दर्शाया गया था ( नितिन को यह रिपोर्ट kovid काल के कारण सितम्बर 2020 के अंत मे ही मिल सकी).


  एक परिचित द्वारा नितिन को नारायण आयुर्वेद चिकित्सा केन्द्र में आयुर्वेदिक उपचार कराने के परामर्श पर उसके माता पिता 03 जुलाई 2020 को  चिकित्सा केंद्र में लेकर गये, रोगी को दिन भर में 5-7 बार सिरदर्द के बहुत तेज दौरे उठते थे, प्रथम माह उपचार के पश्चात उसे सिरदर्द में राहत मिलने लगी तब से अब तक उसे सरदर्द का कोई लक्षण भी नही उठा, अब वह सिरदर्द रोग से पूर्ण स्वस्थ है। 

     

Comments

Popular posts from this blog

ब्रेकिंग -हरिद्वार में भूकंप के झटके

कार्तिक पूर्णिमा स्नान पर सील हुआ उत्तराखंड का बॉर्डर, देखें

पूर्ति निरीक्षक रिश्वत लेते हुए कैमरे में हुआ कैद वीडियो हुआ वायरल