वरिष्ठ समाजसेवी प्रदीप चौधरी ने विधायक प्रतिनिधि पद से दिया इस्तीफा

जहाँगीर मलिक


जनकल्याण सेवा ट्रस्ट के राष्ट्रीय अध्यक्ष प्रदीप चौधरी ने प्रेस वार्ता कर वर्तमान दर्जा मंत्री पर गंभीर आरोप लगाएंं हैं। उन्होंने बताया कि सुमननगर, सलेमपुर, पुरणपूर साल्हापुर और रोशनाबाद क्षेत्र सरकारी भूमि में हुई धोखाधड़ी और बड़े फर्जीवाड़े में लिफ्ट पटवारी विरेंद्र सिंह, तहसीलदार कर्मियों और सिंचाई विभाग की शिकायत प्रधानमंत्री, मुख्यमंत्री उत्तराखंड, सीबीआई डायरेक्टर आदि को की थी। उसे वर्तमान दर्जामंत्री निवासी बहादराबाद रफा-दफा करने की कोशिश में लगा है। उन्होंने दर्जामंत्री पर आरोप लगाते हुए कहा कि वह अपने पावर का गलत इस्तेमाल कर बीजेपी पार्टी की छवि को खराब कर रहें हैं। और उन्होंने क्षेत्र में धोखाधड़ी, अवैध कब्जे, जमीनों में विवाद कर करोड़ों की भूमि पर कब्जा कर रखा है। उन्होंने बताया कि ग्राम पुरणपूर साल्हापुर में चकबन्दी पटवारी विरेंद्र ने राम जोड़ा भूमि, जिसमें गुरु रविदास ने गुरुनानक के साथ कथा की थी। और इस कारण उस भूमि को 12 बीघे छोड़ा गया था। अब वह भी धोखाधड़ी और भ्रष्टाचार की भेंट चढ़ कर लगभग 4 बीघा रह गई है। उन्होंने बताया कि जो उन्होंने धोखाधड़ी और फर्जीवाड़े की बड़े अस्त्र पर पर्दाफाश करने की मांग उठा रखी है। उसे दबाने के लिए विधायक पर दबाव बनाकर मामले को मुझे रफा-दफा करने को कहा गया है। जिस करण मैं विधायक प्रतिनिधि पद से इस्तीफा देता हूं। उन्होंने बताया कि धोखाधड़ी और फर्जीवाड़े की निष्पक्ष जांच के लिए वह उच्च स्तर तक जाएंगे। और भ्रष्टाचारी में लिप्त लोगों के विरुद्ध यह मेरी जंंग इंसाफ न मिलने तक जारी रहेगी। उन्होंने बीजेपी पार्टी से अनुरोध करते हुए कहा कि पार्टी की छवि खराब करने वालों के विरुद्ध कार्रवाई कर पार्टी का नाम बदनाम करने से बचाया जाए।


Comments

Popular posts from this blog

ब्रेकिंग -हरिद्वार में भूकंप के झटके

कार्तिक पूर्णिमा स्नान पर सील हुआ उत्तराखंड का बॉर्डर, देखें

पूर्ति निरीक्षक रिश्वत लेते हुए कैमरे में हुआ कैद वीडियो हुआ वायरल