संतो ने की सरकार से मांग जल्द खुले मठ मंदिर 


जहांगीर मलिक



  • हरिद्वार में अस्थि विसर्जन करने की मिली छूट संतो ने की सरकार से मांग जल्द खुले मठ मंदिर 


सरकार ने गिरती हुई अर्थव्यवस्था को पटरी पर लाने के लिए कोरोना वायरस आपदा के समय में आबकारी की दुकानों को तो खोल दिया मगर पूरी सृष्टि के रचयिता भगवान ईश्वर अल्लाह गॉड वाहे गुरु के मंदिर मस्जिद चर्च गुरुद्वारों को खोलने की अनुमति सरकार द्वारा नहीं दी गई है। इसको लेकर हरिद्वार में साधु-संतों में रोष है। और साधु संतों ने व्यवस्थाओ को जल्द दुरुस्त कर देवालयों को खोलने की मांग की है। संतो ने उम्मीद जताई है। कि जिस तरह राज्य सरकार ने अस्थि विसर्जन की अनुमति दी है। उसी तरह केंद्र सरकार जल्द मंदिरो को खोलने की भी अनुमति देगी।


मंदिर खोले जाने की मांग पर साधु संतों का कहना है। कि शराब के ठेकों का निर्णय सरकार द्वारा लिया गया है। सरकार ने सूझबूझ कर ही शराब के ठेकों को खोला होगा । शराब के ठेके नही खुलेगे तो भी लोग शराब पियेंगे चाहे उन्हें नकली शराब पीने को मिले नकली शराब से लोग बीमार भी हो जाते है। जहां तक मंदिरो के खोले जाने की बात है। मंदिरो को खोलने का निर्णय सरकार द्वारा किया जाना है। व्यवस्थाओ को सही कर सरकार द्वारा मंदिरो को जल्द खोला जाएगा । संत समाज सरकार से मांग करता है। कि मंदिरो को जल्द खोला जाए और हम सब भगवान से प्रार्थना करते है। कि पुरानी रौनक दोबारा वापस आए।
केंद्र सरकार द्वारा 23 मार्च से बंद पड़े धार्मिक संस्थानों को खोलने के लिए अभी कोई भी अनुमति नहीं दी गई है इसको लेकर हरिद्वार के संतों में रोष है जहां संतो द्वारा व्यवस्थाओं को दुरुस्त कर जल्द ही मंदिरों को खोलने की मांग केंद्र सरकार से की गई है तो वही इन संतों द्वारा उम्मीद जताई जा रही है कि सरकार जल्द इनकी मांगों का संज्ञान लेकर मंदिरों को पुनः खोलेगी और पहले की तरह श्रद्धालु मंदिरों में जाकर अपने-अपने भगवानों की पूजा अर्चना और भक्ति कर सकेगे


Comments

Popular posts from this blog

ब्रेकिंग -हरिद्वार में भूकंप के झटके

कार्तिक पूर्णिमा स्नान पर सील हुआ उत्तराखंड का बॉर्डर, देखें

पूर्ति निरीक्षक रिश्वत लेते हुए कैमरे में हुआ कैद वीडियो हुआ वायरल