जोशीमठ-औली रोप वे अब अगले दो से तीन दिनों के लिए पर्यटकों के लिए बंद

 


 



  • जोशीमठ-औली रोप वे अब अगले दो से तीन दिनों के लिए पर्यटकों के लिए बंद


 


संजय कुँवर जोशीमठ 


विश्व विख्यात हिमक्रीडा केन्द्र औली को जेाडने वाले एशिया की सबसे लम्बी और ऊँची जोशीमठ-औली रोप वे अब अगले दो से तीन दिनों के लिए पर्यटकों के लिए बंद रहेगी। औली की मेजबानी में आगामी सात फरवरी से प्रस्तावित राष्ट्रीय शीत कालीन खेलों के आयोजन से पूर्व व्यवस्थाओं को चाक चौबंद करने के उदेश्य से रोप वे प्रबंधन द्वारा मेटिंनेश की प्रक्रिया संपादित की जा रही है। इसके लिए मशीनों का परीक्षण व टेस्ट किया जाना है। ताकि ऐन गेम्स के मौके पर किसी प्रकार की कोई दिक्कते न हो। 
यूॅ तो जोशीमठ रोप वे की मेेटिनेंश सीजन से पूर्व प्रतिवर्ष होती हैं। लेकिन क्योकि राष्ट्रीय स्तर के गेम्स के दौरान कोई खराबी न हो इसके लिए परीक्षण नितांत आवश्यक है। जीएमवीएन के सूत्रों के अनुसार रोप वे के उपकरणों का एनडीटी टेस्ट किया जाना बेहद जरूरी है। इसके लिए टीम जोशीमठ पंहुच गई हैं। इसमें दो से तीन दिन का समय लग सकता है। 
इधर रोप वे अगले दो तीन दिन तक बंद रहने पर प्रशाासन के सामने जोशीमठ-औली रोड को आवाजाही के लिए खुला रखने की चुनौती है। क्योंकि रोप वे के बंद होने की दशा में सडक ही औली पंहुचने का एकमात्र साधन है। हाॅलाकि पहली बर्फबारी के बाद से औली मुख्य सडक से जीएमवीएन तक की सडक नहीं खोली जा सकी हैं। लोनिवि को बार-बार आग्रह करने के बाद भी लोनिवि के डोजर उक्त सडक को खोलने के लिए कतई तैयार नही हैं। जबकि उस सडक पर पूर्व मंे दीवाल लगाने के साथ ही लोनिवि के सुरक्षात्मक साइन बोर्ड पर लगे है। उसके वाद भी लोनिवि पयर्टक हित मे उस मार्ग को खोलने के लिए तैयार नहीं है। जिसके कारण अपने वाहनो से औली पंहुचने वाले पर्यटकों को औली मुख्य सडक से जीएमवीएन कैंपस तक पंहुचने में खासी मशक्कत करनी पड रही है।


Comments

Popular posts from this blog

ब्रेकिंग -हरिद्वार में भूकंप के झटके

कार्तिक पूर्णिमा स्नान पर सील हुआ उत्तराखंड का बॉर्डर, देखें

पूर्ति निरीक्षक रिश्वत लेते हुए कैमरे में हुआ कैद वीडियो हुआ वायरल