आफत की डोर


 




  •               आफत की डोर






 






हरिद्वार ब्यूरो

 






  •      बसंत पंचमी का त्यौहार नजदीक है और हरिद्वार में जमकर पतंगबाजी की जा रही है मगर इस पतंगबाजी की वजह से पक्षियों को अपनी जान तक गंवानी पड़ रही है क्योंकि जिस मांजे से पतंगबाजी की जा रही है वह चाइनीस मांझा है और यह प्लास्टिक से बना होता है और काफी हानिकारक माना जाता है हरिद्वार में चाइनीस मांजे को बेचने पर प्रतिबंध है मगर उसके बावजूद भी धड़ल्ले से हरिद्वार के बाजारों में चाइनीस मांझा बेचा जा रहा है और इस वजह से आसमान में पक्षियों के लिए भी यह काफी खतरनाकनाक साबित हो रहा है
     


  •         चाइनीस मांजे की वजह से आसमान में उड़ने वाले पक्षी भी अब काफी परेशान होने लगे हैं और इस मजे में फंस कर अपनी जान भी गंवा रहे हैं डीएफओ अकाश वर्मा का कहना है किहरिद्वार में चाइनीस मांझा जो बेचा जा रहा है वह काफी सस्ता है और प्लास्टिक से बना हुआ है इसलिए काफी खतरनाक है यह टूटता नहीं है यह धागा पक्षियों के पंखों में और पैरों में उलझ जाता है और इससे पक्षियों को जान का खतरा भी उत्पन्न हो जाता है कई पक्षी को हमने रेस्क्यू कर उनका उपचार किया है अभी तक हमने 6 चील दो बत्तख तीन उल्लू का इलाज क्या है जो काफी गंभीर रूप से घायल हो गए थे एक मोर को भी हमारे द्वारा इलाज किया गया है उसकी गर्दन में काफी चोटें आई थी चाइनीस मांजे की वजह से काफी पक्षी घायल हो रहे हैं डीएफओ आकाश वर्मा ने लोगो से अपील की लोग चाइनीस मांजे का उपयोग ना करें क्योंकि यह पहले ही प्रतिबंध है हमें चाइनीस मांझी से परहेज करना चाहिए यह पक्षियों के लिए भी फायदेमंद साबित होगा


 










 


Comments

Popular posts from this blog

ब्रेकिंग -हरिद्वार में भूकंप के झटके

कार्तिक पूर्णिमा स्नान पर सील हुआ उत्तराखंड का बॉर्डर, देखें

पूर्ति निरीक्षक रिश्वत लेते हुए कैमरे में हुआ कैद वीडियो हुआ वायरल