महिला कर्मियों को सुरक्षा ट्रेनिंग देखिए कैसे




डेस्क रिपोर्ट हरिद्वार




 


  • महिला वनकर्मियों को सुरक्षा की दी ट्रेनिंग


 

महिला वनकर्मियों को किसी भी आपात परिस्थितियों से निपटने के लिए अब अपने सहकर्मियों का इंतजार नही करना होगा। राजाजी टाइगर रिजर्व द्वारा यंहा कार्यरत महिला वनकर्मियों को आत्मरक्षा के विशेष गुर सिखाए जा रहे है। सात दिनों तक चलने वाले इस प्रशिक्षण शिविर के माध्यम से महिला वनकर्मी जंगलो की सुरक्षा के साथ ही अपनी आत्मरक्षा के गुर भी सीख रही है। 

पार्क प्रशासन की माने तो महिला कर्मियों के आत्मरक्षक होने से जगल और डेपार्टमेंट के लिए लाभदायी होगा। राजाजी टाइगर रिजर्व में महिला आरक्षियों सात दिवसीय शिविर के प्रत्येक दिन ये प्रशिक्षण दिया जा रहा है, क्योकि महिला अरक्षियो की ड्यूटी भी आसान नहीं है इन्हे कभी जंगल में ड्यूटी या गस्त पर तैनात किया जाता और यदि ये महिला आरक्षी इस तरह से आत्मरक्षा सीखे हुए होगी तो निश्चित रूप से वो किसी भी परेशानी का सामना बड़ी आसानी से कर सकेगी। 


वही इस ट्रेनिंग में राजाजी टाइगर रिजर्व में हर वर्ग में कार्यरत महिला आरक्षी आत्मरक्षा के गुर सीख रही है , इनमे महिला आरक्षी से लेकर महिला डॉक्टर तक शामिल है। पार्क की इस मुहीम की ये महिलाए सराहना भी कर रही है। महिला आरक्षी हो या फिर डॉक्टर सभी ने आज के समय में महिलाओ को किसी और के भरोसे न रहकर आत्मरक्षा की ट्रैनिंग को जरुरी बताया। 

हैदराबाद कांड के बाद से ही देश भर में महिला सुरक्षा को लेकर एक नई बहस छिड़ चुकी है। ऐसे में राजाजी टाइगर रिजर्व द्वारा महिला वन कर्मियों को विशेष ट्रेनिंग देकर आत्मरक्षा के गुर सिखाना एक बेहतरीन पहल मानी जा सकती है उम्मीद है कि आने वाले वक्त में इस तरह प्रशिक्षण पाकर यह महिला वनकर्मी जहां जंगलों की सुरक्षा में अहम भूमिका निभा सकेंगे तो वहीं दूसरी ओर अपनी आत्मरक्षा करने में भी सक्षम हो सकेंगी





 







 


Comments

Popular posts from this blog

ब्रेकिंग -हरिद्वार में भूकंप के झटके

कार्तिक पूर्णिमा स्नान पर सील हुआ उत्तराखंड का बॉर्डर, देखें

ब्रेकिंग-मौसम विभाग का रेड अलर्ट जारी